महिला बाल विकास परियोजना कार्यालय देवसर में दिन के बारह बजे जड़ा ताला,कुंडेश्वर टाइम्स ब्यूरो अनुराग द्विवेदी की रिपोर्ट

दफ्तर में आने के बाद बाबुओं के बैठने का तरीका भी ठीक नहीं

0
60

दफ्तर के बाहर धूप में बैठ कर बाबुओं का इंतजार कर रहीं मुख्यमंत्री की बहने

देवसर(kundeshwartimes)- सिंगरौली जिले के महिला बाल विकास परियोजना कार्यालय देवसर में बुधवार को दिन के 12 बजे ताला लटका हुआ था,मुख्यमंत्री की बहने दफ्तर के बाहर धूप में बैठकर बाबुओं का इंतजार कर रही थीं,इधर बताते हैं कि जब कभी दफ्तर में कर्मचारी आते भी हैं तो उनके बैठने का तरीका ठीक नहीं रहता,दफ्तर में महिलाओं की भीड़ लगी होती है और बाबू टेबिल पर पैर फैलाकर आराम फरमा रहे होते हैं,पिछले दिनों इसी तरह की एक तस्वीर सामने आई थी,जहां विभाग के सहायक ग्रेड 3 अमित पांडे नाम के कर्मचारी टेबिल पर पैर रखकर आराम फरमा रहे थे,वही बुधवार को तो दफ्तर में ताला लगाकर कर्मचारी नदारत रहे

दिन के बारह बजे बंद रहा दफ्तर में ताला

महिला बाल विकास परियोजना कार्यालय देवसर में बुधवार को दिन के बारह बजे ताला लटका हुआ था कुछ बाबुओं से मोबाइल फोन के जरिए बात की गई तो बाबुओं ने बताया कि खाना खा रहे हैं,वही बताया जाता है कि इस दफ्तर में अक्सर इसी तरह का हाल देखा जाता है

आग उगलती धूप में मुख्यमंत्री की बहने परेशान

महिला बाल विकास परियोजना कार्यालय देवसर का दफ्तर बंद होने की वजह से विभाग संबंधित काम के लिए आईं मुख्यमंत्री की बहने दफ्तर के बाहर आग उगलती धूप में बैठकर बाबुओं का इंतजार करती हैं,बुधवार को दफ्तर के बाहर दिन के बारह बजे एक महिला को धूप में बैठकर बाबुओं का इंतजार करते देखा गया,महिला ने बताया कि आधार कार्ड बनवाने संबंधित कुछ काम करवाना है,लेकिन दफ्तर बंद है

एसडीएम कार्यालय के चंद कदमों की दूरी पर है दफ्तर

महिला बाल विकास परियोजना कार्यालय देवसर के कर्मचारियों की मनमानी यह बता रही है कि इन्हे स्थानीय प्रशासन का बिल्कुल भी खौफ नहीं है क्योंकि ये दफ्तर एसडीएम तथा तहसीलदार सहित जनपद सीईओ के दफ्तर से चंद कदमों की दूरी पर स्थित है,मतलब ये दफ्तर चारों तरफ से स्थानीय प्रशानिक अधिकारियों से घिरा हुआ है फिर भी इस तरह की मनमानी चल रही है जो अपने आप में विचारणीय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here