मेडिकल दुकान संचालक के उपर लगा मरीजों का इलाज करने का आरोप,अर्पिता मेडिकल स्टोर चितरंगी का मामला,जांच की मांग।। सिंगरौली से कुंडेश्वर टाइम्स ब्यूरो अनुराग द्विवेदी की रिपोर्ट

0
236

सिंगरौली(kundeshwartimes)-सीएचसी चितरंगी के पास पास संचालित अर्पिता मेडिकल स्टोर में दुकान संचालक द्वारा मरीजों का इलाज करने का आरोप लग रहा है,क्षेत्रीय जनों ने आरोप लगाया है कि इस मेडिकल स्टोर में डॉक्टरों की पर्ची के आधार पर मरीजों को दवा देने की बजाय मरीजों का खुलेआम इलाज किया जा रहा है अब जांच का विषय यह है कि मेडिकल स्टोर संचालक के पास स्वास्थ्य संबंधी कोई डिग्री है या फिर नही,तथा स्वास्थ्य संबंधी कोई प्रशिक्षण लिया गया है या भगवान भरोसे मरीजों का इलाज किया जा रहा है यदि मरीजों का इलाज बिना कोई डिग्री लिए भगवान भरोसे किया जा रहा है तो निश्चित रूप से मरीजों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है,फिलहाल स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदारों को इसकी जांच करनी चाहिए,
सूत्रों की माने तो मामला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चितरंगी से महज 200 मीटर दूर संचालित अर्पिता मेडिकल स्टोर के संचालित द्वारा मेडिकल स्टोर में दवा विक्रय के साथ साथ मरीजों की दवाइयां भी की जाती हैं।साथ ही मोटी रकम कमाने के चक्कर में अप्रशिक्षित लोगों द्वारा अपने आपको डॉक्टर बताकर मेडिकल स्टोर के आड़ में भर्ती भी किया जाता है।इसके बाद अपने आपको डॉक्टर बताने वाले अप्रशिक्षित लोगों द्वारा खुलेआम दवा किया जाता है ,इतना ही नहीं जब मरीज की हालत बिगड़ने लगती है तो उसे अत्यंत सीरियस बता कर सोनभद्र और वाराणसी के लिए अपने निजी पहचान के स्वास्थ्य केंद्रों में भेजने का कार्य धड़ल्ले से किया जा रहा है।जिसके एवज में वहां से भी कमीशन के रूप में नजराना भेंट हो जाता है।दरअसल भोले भाले लोग अपनी जान की परवाह न करते इनके झांसे में आ जाते हैं और यह अप्रशिक्षित लोग जो शासन-प्रशासन की आंखों में धूल झोकते हुए मेडिकल स्टोर के आड़ में लोगों की दवाइयां भी कर रहे हैं और उनके जान के साथ खिलवाड़ भी।
गौरतलब है कि विकासखंड मुख्यालय स्तर पर इस तरह से अमानक ढंग से कार्य संचालित हो और किसी को कानों कान खबर तक न हो।हालांकि चितरंगी पिछड़ा क्षेत्र होने की वजह से पूरे क्षेत्र में झोलाछाप डॉक्टरों का भी बोलबाला बना रहता है।फिलहाल अब इस तरह के लगाए जा रहे आरोपों में क्या सच्चाई है ये जांच का विषय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here