सिद्धेश्वर धाम सगमा में पहुंचने पर दूर होते हैं लोगों के संकट,बागेश्वर धाम की तरह मंगलवार और शनिवार को लगता है दिव्य दरबार।।सुरेन्द्र कुसमाकर”श्रीमाली”/मुकेश सोंधिया की रिपोर्ट

0
2877

 

*बागेश्वर धाम के बाद अब सिद्धेश्वर धाम में पर्चा बनाकर होता है लोगों की समस्याओं का समाधान,बड़ी संख्या में पहुंच रहे लोग देखें पूरी हकीकत*

वीडियो को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें लाइक करें एवं चैनल को सब्सक्राइब करें
👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇

देश के कोने-कोने और विदेशों में भी पर्चा बनाकर लोगों की समस्या का निदान करने के लिए प्रसिद्ध बागेश्वर धाम सरकार का दिव्य दरबार और वहां के गुरुदेव श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को कौन नहीं जानता और कौन ऐसा है जो उनके पास जाकर अपनी समस्या का निदान नहीं करना चाहता परंतु बढ़ती भीड़ और उनकी व्यस्तता के कारण हर व्यक्ति को उनसे मिल पाना संभव नहीं हो पा रहा परंतु ऐसी स्थिति में आम जनमानस को निराश होने की आवश्यकता नहीं है अब बागेश्वर धाम की तरह सिद्धेश्वर धाम में भी सिद्धेश्वर धाम सरकार के पूज्य गुरुदेव श्री आदर्श कृष्ण शास्त्री द्वारा दिव्य दरबार लगाकर लोगों की समस्याओं का समाधान प्रत्येक मंगलवार एवं शनिवार को दिव्य दरबार लगाकर किया जा रहा है जिसमें बड़ी संख्या में लोग वहां पहुंचकर समस्याओं से निजात पा रहे हैं।

कहां है सिद्धेश्वर धाम

सिद्धेश्वर धाम का यह दिव्या दरबार मध्य प्रदेश के सतना शहर से लगभग 8 किलोमीटर जैतवारा लाइन पर सगमा रेलवे स्टेशन के बगल में स्थित है जहां पर सिद्धेश्वर धाम का दिव्य दरबार लगता है यहां पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की सभी समस्याएं श्री बालाजी सरकार एवं सन्यासी महाराज की कृपा से दूर होती हैं।

मंगलवार एवं शनिवार को लगता है दिव्या दरबार

सिद्धेश्वर धाम सरकार के पूज्य गुरुदेव श्री आदर्श कृष्ण शास्त्री की धाम में उपस्थित के दौरान प्रत्येक मंगलवार एवं शनिवार को दिव्य दरबार का आयोजन होता है जिसमें हनुमान जी महाराज की मंगल आरती के बाद दरबार लगता है वहां उपस्थित सभी जनों के बीच में से किसी को बुलाकर उसका पर्चा बनाकर उसकी समस्या का समाधान करना अपने आप में लोगों को आश्चर्यचकित कर देता है और जैसे-जैसे यह बात लोगों तक पहुंच रही है इस तरह बड़ी संख्या में लोग यहां पहुंचकर सिद्धेश्वर धाम में अपनी समस्या का निराकरण होने बाबत अर्जी लगा रहे हैं।

कैसे लगती है दरबार में अर्जी

सिद्धेश्वर धाम में हनुमान जी महाराज एवं सन्यासी महाराज का चबूतरा बना हुआ है वहां पर नारियल बांध करके 11 या 21 परिक्रमा करते हुए अपनी समस्या का उच्चारण मन ही मन करके भगवान के चरणों में अपनी अर्जी लगानी पड़ती है और जब अर्जी में सुनवाई होती है तो उसके बाद धाम में पेशी आना पड़ता है जिससे उनके संकट धीरे-धीरे समाप्त होने लगते हैं और लोगों को एक नया जीवन प्राप्त होता है जो उन्हें उन्नत और खुशहाली प्रदान करता है।

सनातन धर्म की रक्षा एवं पुनरोत्थान ही प्रमुख उद्देश्य-श्री आदर्श कृष्ण शास्त्री

सिद्धेश्वर धाम के पूज्य गुरुदेव श्री आदर्श कृष्ण शास्त्री ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि वर्तमान में सनातन धर्म के पुनरोत्थान की आवश्यकता है इस दिशा में कई महान संत अपना योगदान देते हुए महत्वपूर्ण ढंग से कार्य कर रहे हैं और हमारा भी उद्देश्य यही है कि लोग सात्विक जीवन जीते हुए सनातन धर्म को अपने एवं सनातन धर्म की मर्यादा में रहकर देव तुल्य जीवन व्यतीत करें पूज्य गुरुदेव आदर्श कृष्ण शास्त्री ने बताया कि वर्तमान समय सनातन धर्म के उत्थान के लिए है और हम सब मिलकर इस दिशा में प्रयास करें जिससे हमारा देश श्रेष्ठ बन सके और हम सब विश्व गुरु बनने की ओर अग्रसर हो सके सिद्धेश्वर धाम में आयोजित होने वाले दिव्या दरबार के संबंध में श्री आदर्श कृष्ण शास्त्री ने बताया कि यह स्थान अत्यंत सिद्ध है यहां पर तीन संतों की समाधि है एवं श्री हनुमान जी महाराज व सन्यासी महाराज की अनुपम कृपा यहां भक्तजनों पर बरसती है जो भी व्यक्ति निश्चल भाव से आता है उसकी अर्जी हनुमान जी महाराज स्वीकार करते हैं और उसकी समस्या का समाधान करते हैं लोगों को पहली बार में ही सफलता न मिलने पर निराश नहीं होना चाहिए उन्हें यहां निरंतर आते रहना चाहिए एक न एक दिन निश्चित तौर पर प्रभु की कृपा उन पर होगी और उनकी समस्या का समाधान होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here